WeatherSys News
Image not Found

किसान आंदोलन .....राजनीतिकरण का समय नहीं
06 जून 2017


पिछले कुछ हफ़्तों से मध्य प्रदेश और महाराष्ट्र में किसान अपने तिरस्कार के कारण आंदोलन कर रहे हैं । उनका मुख्य मुद्दा फसल की वाजिब कीमतों का न मिलना है ।

आक्रोश में किसान फल और सब्जियों को सड़क पर फेंककर निजी नुकसान लेते हुए आवाज़ उठा रहे हैं । इसमें राजनीतिक पार्टियां कूद पड़ीं हैं और इस आंदोलन को राजनीतिक हवा देने पर तुली हैं ।


प्रमुख समस्या नीतियों में है । मसलन कर्ज माफ़ी में सरकारी दुविधा, समर्थन मूल्य पर खरीद नहीं, कृषि लागत में वृद्धि, खुले अन्न व्यापार पर 5% GST इत्यादि ।

आनन फानन में मध्य प्रदेश सरकार ने 8 रुपये/किलोग्राम प्याज़ और 10,000 रुपये के ऊपर कैश पेमेंट की छूट दे दी । ये बगैर सोंचे हुए कि इनकम टैक्स डिपार्टमेंट 10,000 रुपये से ऊपर के भुगतान को गैर कानूनी मानता है ।

खरीफ सत्र सामने खड़ा है किसान मानसून का इंतज़ार कर रहे हैं समय कम है । उनके पास खाद बीज के पैसे मुहैया नहीं हो पा रहे हैं ।


इस विषय को लेकर सरकार को जल्द ही कुछ हल निकालना चाहिए वो भी गंभीरता से ।

किसानों को और भी संगठित होना पड़ेगा । फसल सलाह के माध्यम से अन्य किसान इस मुहीम में जुड़ें ।

फसल सलाह डाउनलोड करें ।


"मौसम का फसल पर असर"
मौसम और फसलों की ज्यादा जानकारी के लिए हमारी वेबसाइट पर जाएं
"फसल सलाह" एप प्ले स्टोर से डाउनलोड कीजिये: "फसल सलाह एप"
"फसल सलाह वेबसाइट पर जाने के लिए : "फसल सलाह"
अधिक खबर पढ़ने के लिए जाएं:किसान संघ का आंदोलन, अब 8 रुपए किलो खरीदा जाएगा प्याज